jayfal ke fayde – जायफल के फायदे

Spread the love
Jayfal ke fayde
jayfal ke fayde

जायफल क्या होता है?

यह एक लोकप्रिय मसाला है जिसे हम nutmeg के नाम से भी जानते है। इसके फायदे स्वास्थ्य लाभ से लेकर त्वचा की सुन्दरता बढ़ाने तक है। जायफल भी अन्य मसालों की तरह व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने के लिए उपयोग में लाया जाता है। जायफल महकने वाला और स्वाद में मीठा होता है। इसे आयुर्वेदिक औषधि के रूप में जाना जाता है जो त्वचा में निखार लाने, भोजन के न पचने, दर्द को दूर करने में और अनिद्रा जैसी समस्याएँ दूर करता है। यह प्रमुख रूप से हमारी प्रतिरक्षक प्रणाली (immune system) को मजबूत करने में उपयोग में लाया जाता है। इसके आलावा भी jayfal ke fayde बहुत है। इसमें उपस्थित घटकों में मेगनीज, विटामिन B-6, फाइबर, कॉपर, आदि होने के कारण आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य को ठीक रखने और कई प्रकार की बीमारियों को दूर करने में मदद करता है।

जायफल के फायदे – jayfal ke fayde

बच्चो के दिमाग को तेज करने में असरदार

बच्चो के दिमाग को तेज और स्वस्थ रखने के लिए जायफल का उपयोग कर सकते है। पुराने ज़माने में यूनानी और रोमन संस्थाओ ने मस्तिष्क टॉनिक के रूप में जायफल का उपयोग किया, यह मस्तिष्क में नसों के उतेजित करके आपकी याद रखने की क्षमता को बढाता है। यह आपके ध्यान केद्रित रखने और एकाग्रता की क्षमता को बढाता है। बच्चों के दिमाग को तेज करने के लिए आप एक गिलास पानी में एक चुटकी जायफल पाउडर मिलाये, रात को सोने से पहले इसका सेवन करे।

अनिद्रा को दूर करने में jayfal ke fayde

यदि आप रात को ठीक तरीके से नहीं सो पा रहे, सोने में कठिनाई हो रही है, या भरपूर नींद नहीं ले पा रहे है तो जायफल का इस्तेमाल करे। इसमें मौजूद शांत गुण प्राकृतिक नींद लाने में मदद करता है। जायफल में मेग्नीजियम की भरपूर मात्रा होती है जो तंत्रिका तनाव को कम करने में मदद करती है। रोजाना सोने से पहले एक गिलास दूध में एक चम्मच जायफल पाउडर मिलाकर सेवन करे। ऐसा करने से अच्छी नींद आएगी और अनिद्रा की समस्यां दूर होगी।

बच्चो के दूध न पचने पर

जो माँ अपने बच्चे का दूध छुड़ाकर गाय का दूध या अन्य कोई दूध पिलाती है, तो कई बार बच्चे को यह दूध पच नहीं पाता है। ऐसे में दूध में आधा पानी मिलाकर एक जायफल डालकर उबाल ले, थोडा ठंडा करके इस गुनगुने दूध को शिशु को पिलाये।

जोड़ो के दर्द के लिए भी फायदेमंद

इस आयुर्वेदिक जडीबुटी में कई ऐसे आवश्यक गुण होते है जो मांसपेसियों और जोड़ो के दर्द को दूर करने में मदद करता है जो गठिया होने का संकेत होता है। दर्द को दूर करने के लिए जायफल के तेल की थोड़ी सी मात्रा नारियल या जेतुन के तेल में मिलाकर दिन में दो तीन बार हलकी हलकी मालिश करे। इससे शरीर में गर्मी आती है जिससे जोड़ो का दर्द ठीक हो जाता है।

अल्जाइमर रोग के के लिए (भूलने की बीमारी)

जायफल को भोजन में मसाले के रूप में इस्तेमाल करने से अल्जाइमर जैसी भूलने की बीमारी से बचा जा सकता है। इससे भोजन तो स्वादिष्ट बनेगा ही साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। इससे जल्दी जल्दी बीमार होने से बचा जा सकता है।

चेहरे की सुन्दरता बढ़ाने, मुहांसों और झुर्रियों से निजात पाने के लिए

हर कोई अपने चेहरे को सुंदर बनाने की कोशिश करता है और इसके लिए कई तरह के रासायनिक उत्पादों का भी प्रयोग करता है। जिसके हमें कई नकारात्मक प्रभाव भी देखने को मिलते है। इसके बजाय यदि हम चेहरे के लिए घेरुलू उपयोग का इस्तेमाल करे तो ज्यादा बेहतर होता है, जिसमे से एक है जायफल। jayfal ke fayde त्वचा को स्वस्थ और सुंदर रखने के लिए भी कारगर होते है। इसमें एंटी ओक्सिडेंटस के कारण त्वचा से संबधित समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। इसका उपयोग मुहांसों को दूर करने में जो एक आम समस्यां है, उसके लिए जायफल के पाउडर को पानी या शहद के साथ पेस्ट बनाकर मुहांसों पर लगाएं। 20 मिनट बाद साफ़ पानी से दो धो ले। कुछ दिनों के रोजाना प्रयोग से मुहांसे दूर हो जायेंगे, साथ ही झुर्रियां खत्म करके चेहरा चमकदार और बेदाग़ हो जाता है।

इसके आलावा मुहांसों को दूर करने के लिए एक चम्मच कच्चे दूध में एक चौथाई जायफल पाउडर के पेस्ट को मुहांसों वाली जगह पर लगाये, आधा घंटे बाद हलके गरम पानी से धो ले। इस प्रक्रिया को प्रतिदिन करने से चेहरे पर सुन्दरता भी आती है।

पाचन तंत्र के लिए भी असरकारी

सामान्य मतली, उलटी, दस्त, अपच, सूजन, भोजन न पचना, गैस, आदि समस्याओं को दूर करने के साथ साथ आंत में अवरोध के लक्षणों को भी दूर करने में मदद करता है। पाचन सम्बंदित समस्याओं से पीड़ित व्यक्तियों को अपने पेय पदार्थो में एक चुटकी जायफल पाउडर मिलाकर सेवन करे। यह आपके पाचन से सम्बंदित सभी समस्याओं को दूर करने में मदद करेगा।

आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए

जायफल को पत्थर पर पानी डालकर पीस ले और लेप बना ले। इस लेप को आँखों के पलकों और आँखों के चारो और लगाइए। इससे आँखों की सभी समस्याएँ घटने लगती है। ध्यान रखे लेप को आँखों के अंदर नहीं, बल्कि आँखों के बाहरी भागो पर ही लगाना चाहिए।

benefits of nutmeg
jayfal ke fayde

जायफल की न्यूट्रिशन वैल्यू

जायफल के पौष्टिक तत्व – Jayfal ke Paustik Tatva

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
कैलोरी525 kcal
प्रोटीन5.84 ग्राम
फैट36.31 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट49.29 ग्राम
फाइबर20.8 ग्राम
शुगर2.99 ग्राम
कैल्शियम184 मिलीग्राम
आयरन3.04 मिलीग्राम
मैग्नीशियम183 मिलीग्राम
फास्फोरस213 मिलीग्राम
पोटेशियम350 मिलीग्राम
सोडियम16 मिलीग्राम
जिंक2.15 मिलीग्राम
मैंगनीज2.9 मिलीग्राम
कॉपर1.027 मिलीग्राम
विटामिन-सी3 मिलीग्राम
विटामिन-ए IU102 IU
जायफल की न्यूट्रिशन वैल्यू
jayfal ke fayde
jayfal ke fayde

जायफल के नुकसान –  Jayfal ke Nuksan

Side effects of Nutmeg: सामान्य रूप से कम मात्रा में सेवन करने से किसी भी प्रकार का नुकसान नही होता है लेकिन अधिक मात्रा (30 ग्राम से ज्यादा) में इसका सेवन करने से यह जहरीला हो सकता है। लेकिन यदि इसकी कम मात्रा में उपयोग किया जाये तो यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी साबित होता है।

अधिक मात्रा में सेवन करने से कुछ लोगो में चक्कर आना, उल्टी, प्यास ज्यादा लगना, छाती और पेट में दर्द, मुहँ का सुखना जैसी समस्याएँ हो सकती है, इसलिए ध्यान रखे जायफल की मात्रा का अधिक सेवन न करे।

गंभीर समस्याओं में दिल के दौरे या गर्भपात जैसी समस्याएँ हो सकती है। गर्भवती में गर्भपात या जन्म दोष का कारण बन सकता है। स्तन पान कराने वाली महिलाओ को भी जायफल का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए।

गर्मियों में जायफल का सेवन कम करना चाहिए क्योकि इसकी तासीर गरम होती है. अधिक मात्रा में लेने से आपको नुकसान हो सकता है

इसे लेने से कई बार मुँह सुख जाने की समस्या हो सकती है

Sources

Articles on herbsscience are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance.

Chemical diversity and pharmacological significance of the secondary metabolites of nutmeg (Myristica fragrans Houtt.)
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5222521/?report=classic#R1

MANAGING INSOMNIA WITH JATHIPHALA (MYRISTICA FRAGRANS) POWDER – A PILOT STUDY
https://www.researchgate.net/publication/326444717_MANAGING_INSOMNIA_WITH_JATHIPHALA_MYRISTICA_FRAGRANS_POWDER_-_A_PILOT_STUDY

Ethnobotany of nutmeg in the Spice Islands
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/8072304/

Utilization of Nutmeg (Myristica fragrans Houtt.) Seed Hydrodistillation Time to Produce Essential Oil Fractions with Varied Compositions and Pharmacological Effects
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7037852/

Cytotoxic and anti-tumor activities of lignans from the seeds of Vietnamese nutmeg Myristica fragrans
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23877238/

Chemical composition, antioxidant and cytotoxicity activities of the essential oils of Myristica fragrans and Morinda citrifolia
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25520982/

Ameliorative effect of Myristica fragrans (nutmeg) extract on oxidative status and histology of pancreas in alloxan induced diabetic rats
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/31063201/

Anticariogenic activity of macelignan isolated from Myristica fragrans (nutmeg) against Streptococcus mutans
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16492529/

Improvement of mouse memory by Myristica fragrans seeds
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15298762/

Histological Assessment of the Testes and Serum Testosterone of Adult Male Albino Wister Rats Following Oral Administration of Ground Nutmeg Seed
http://scholarsmepub.com/wp-content/uploads/2018/11/SJMPS-410-1248-1256-c.pdf

Blood Cholesterol
https://www.nhlbi.nih.gov/health-topics/blood-cholesterol

LIPID LOWERING EFFECTS OF MYRISTICA FRAGRANS
https://pdfs.semanticscholar.org/b5b0/6771a9aba3d66b171f8062cc72198732a65f.pdf

AMP-activated protein kinase (AMPK) activators from Myristica fragrans (nutmeg) and their anti-obesity effect
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20541406/

Mycotic and aflatoxin contamination in Myristica fragrans seeds (nutmeg) and Capsicum annum (chilli), packaged in Italy and commercialized worldwide
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4996038/

Spices, nutmeg, ground
https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/171326/nutrients

Nutmeg oil alleviates chronic inflammatory pain through inhibition of COX-2 expression and substance P release in vivo
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4848392/

Pharmaceutical Perspectives of Spices and Condiments as Alternative Antimicrobial Remedy
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5871277/

Nutmeg Poisonings: A Retrospective Review of 10 Years Experience from the Illinois Poison Center, 2001–2011
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4057546/?report=classic

Nutmeg intoxication in pregnancy. A case report
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/3560064/

read more

Licorice Benefits

Peepal leaves benefits

Hibiscus Tea Benefits

How to use oregano plant

Leave a comment