Giloy ke fayde

Spread the love
giloy ke fayde
Giloy ke fayde

आयुर्वेदिक ग्रंथों में गिलोय को बहुत ही फायदेमंद बताया गया है। आयुर्वेद में इसे रसायन माना गया है, जो कि स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होता है। गिलोय के पत्तों का स्वाद बहुत ही तीखा और कड़वा होता है। गिलोय का बॉटनिकल नेम है टीनोस्पोरा कोर्डीफोलिया। इसके अलावा इसे अमृता मधुपर्णी रसायनि और गुडुची नामों से भी जाना जाता है। देखने में गिलोय पान के पत्तों की तरह दिखते हैं, ऐसा कहते हैं कि गिलोय के सेवन से 100 तरह की बीमारियों से बचा जा सकता है। इस प्रकार गिलोय के फायदे जानकर इसका लाभ उठाया जा सकता है!

स्ट्रांग इम्यूनिटी के लिए immunity booster

पिछले कुछ समय से गिलोय का इस्तेमाल बहुत किया जा रहा है, लोगों द्वारा क्योंकि गिलोय से हमारी इम्यूनिटी भी स्ट्रांग होती है और यदि शरीर में चोट या घाव हो जाए तो उसे जल्द ठीक करने के लिए गिलोय बहुत फायदेमंद है। अगर किसी को बाल झड़ने की समस्या है या फिर रूसी की समस्या है, तो गिलोय बाल झड़ने की समस्या को भी कम कर देता है और रूसी को भी दूर रखता है। आंखों से सम्बंधित समस्या जैसे आँख में रेडनेस और इरिटेशन की समस्या भी दूर कर देता है । यह हमारे पेट के कीड़ों को भी मार देता है, जिससे हमारा पेट साफ़ रहता है। इस प्रकार Giloy ke fayde को जानकर हम इसका लाभ उठा सकते है

अमृता

हर मौसम अपने साथ कोई ना कोई बीमारी ज़रूर लाता है, जैसे बरसात का मौसम अपने साथ वायरल बीमारियाँ जैसे डेंगू मलेरिया चिकनगुनिया लाता है। ऐसे वक़्त गिलोय का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। गिलोय में इतने सारे फायदे होते हैं कि इसको खाना लगभग-लगभग अमृत खाने के समान होता है। इसी वज़ह से गिलोय को अमृता भी कहा जाता है।

आयुर्वेदिक किताबों में गिलोय के फायदे के लिए इसके सेवन करने का तरीक़ा बताया गया है, आपको उसी तरीके से सेवन करना है। पहले जो वैद्य हुआ करते थे, वह कोई भी औषधि बनाते थे या काढ़ा बनाते थे। लेकिन आजकल के बड़ी-बड़ी कंपनियाँ होती है, ज़्यादा मात्रा में जूस या काढ़ा बनाते हैं, या ज़्यादा मात्रा में पीसकर रस निकालकर बेचती है इसलिए वह लोहे की मशीनों का प्रयोग करते हैं। इसके कारण गिलोय के जो पोषक तत्व होते हैं वह नष्ट हो जाते हैं।

नीम गिलोय

गिलोय की बेल ज्यादातर नीम के पेड़ पर चढ़ जाती है। नीम के पेड़ पर चढ़ने के कारण उसमें नीम के भी गुण आ जाते हैं। आपको गिलोय की डंडी का प्रयोग करना है पत्तों का नहीं, गिलोय के पत्ते ज़्यादा असरदार नहीं होते हैं। उसकी जो डेंटल होती है वह बहुत असरदार होते हैं।

गिलोय के फायदे Benefits of giloy

Giloy ke fayde
Giloy Ke Health Benefits

डायबिटीज के लिए फायदेमंद

आज के समय में लोग डायबिटीज से बहुत परेशान है, क्योंकि आजकल डायबिटीज वाले लोगों की संख्या बहुत बढ़ चुकी है। यहाँ तक की कम उम्र वाले लोगों को भी डायबिटीज अपने चपेट में ले रहा है। अगर आपको या आपके परिवार में किसी को टाइप टू डायबिटीज है, तो आपको गिलोय का सेवन करना बहुत ज़रूरी है क्योंकि यह आपके ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है। अच्छे से आप इसके पत्तों से इसका जूस बनाकर भी पी सकते हैं। यहाँ तक कि डॉक्टर भी डायबिटीज पेशेंट को इसका सेवन करने के लिए कहते हैं

इम्यूनिटी बढ़ाने में कारगर:

आज के समय में ऐसा देखा गया है कि, लोग बहुत ही कमजोर हो गए हैं। अंदर से आए दिन बीमार पड़ जाते हैं। आसानी से सर्दी खांसी जैसे बीमारी तुरंत हो जाती है। अगर मौसम थोड़ा भी बदलता है और आप बीमार पड़ जाते है तो, इसका कारण कमजोर इम्यूनिटी है।

अगर आप भी आए दिन बीमार पड़ जाते हैं तो ऐसे समय में आपको गिलोय का सेवन ज़रूर करना चाहिए क्योंकि, गिलोय इम्यूनिटी बढ़ाने में बहुत मदद करता है। गिलोय अपने रक्त को शुद्ध करता है और नुकसानदायक बैक्टीरिया से भी लड़ता है, जो कि ज्यादातर रोग का कारण होता है और यहाँ तक कि यह इनफर्टिलिटी के इंफेक्शन को भी कम करता है।

मोटापा कम करें

आज के समय में मोटापा लोगों की एक बहुत ही बड़ी समस्या बन गई है। जिसकी वज़ह से डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल जैसी आदि बीमारियाँ लोगों को अपने चपेट में ले रही है। मोटापा से चलने फिरने में भी कुछ लोगों को तकलीफ होती है यदि, आप भी मोटापा के शिकार है तो आपको गिलोय का सेवन ज़रूर करना चाहिए। एक चम्मच गिलोय का रस एक चम्मच शहद में मिलाकर रोज़ सुबह और शाम पीना चाहिए। यह करने से आपका मोटापा ज़रूर कम हो जाएगा।

नेचुरल एंटीबायोटिक

किसी भी तरह का बुखार हो, गिलोय उसे सही कर देता हैं। गिलोय किसी भी तरह के वायरस को चाहे वह जागृत अवस्था में हो या, शांत अवस्था में हो और चाहे वह शरीर के किसी भी हिस्से में क्यों ना हो गिलोय उसे जड़ से ख़त्म कर देता हैं। गिलोय अकेले ही लगभग 100 से ज़्यादा बीमारियों का इलाज़ करने में कारगर रूप से काम आता है। गिलोय सभी तरह के वायरल इनफेक्शन बुखार और सर्दी जुखाम से लड़ने में कारगर होती है। ख़ास तौर पर डेंगू में प्लेटलेट को बढ़ाने का काम करती है। गिलोय एक एमेनिटी बूस्टर है।

बुखार में फायदेमंद

गिलोय एक इम्यूनिटी बूस्टर है, गिलोय के कई फायदे हैं। बुखार में हमारे शरीर का तापमान बढ़ जाता है। गिलोय का काढ़ा पीने से हमारे शरीर का तापमान कई हद तक सामान्य होने लगता है। गिलोय हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

पीलिया में फायदेमंद

गिलोय करीबन 100 से भी ज़्यादा रोग में लाभदायक है, गिलोय का सेवन पीलिया में भी लाभदायक होता है। गिलोय के काढे़ में दो चम्मच शहद मिलाकर दिन में तीन से चार बार पीने पर बहुत लाभ मिलता है। गिलोय के पत्ते को पीसकर छास में मिलाकर सुबह-सुबह पीने से पीलिया ठीक हो जाता है।

पाचन मैं फायदेमंद

अगर आपको पाचन की समस्या है या फिर, कोई भी पेट के सम्बंधित समस्या है तो, गिलोय आपके लिए बहुत लाभदायक है। अदरक और गिलोय को उबाल के उसका काढ़ा बनाकर अगर आप दिन में दो से तीन बार पियोगे तो आपकी पाचन की समस्या दूर हो जाएगी। गिलोय हम मनुष्य के लिए अमृत के समान है।

स्ट्रेस में लाभदायक

क्या आप स्ट्रेस जैसे गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं तो, गिलोय आपके लिए बहुत लाभदायक है। गिलोय का काढ़ा पीने से यह आपके शरीर का टॉक्सिन लेवल बढ़ा देता है। गिलोय का काढ़ा मन को शांति देता हैं इसी के साथ-साथ वह आपकी मेमोरी भी बढ़ा देता है।

अस्थमा में फायदेमंद

आजकल लाखों की संख्या में लोग अस्थमा से पीड़ित हो रहे हैं। अगर आपको भी समय है तो, आपको गिलोय की जड़ चबानी चाहिए। इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा, आपकी खांसी और कफ से जुड़ी समस्या भी सुलझ जाएगी।

आंखों की रोशनी के लिए फायदेमंद

आंखों की रोशनी की समस्या बहुत बड़ी समस्या है और आजकल बहुत से इंसान इससे से जूझ रहे हैं। यदि, आपको भी आंखों की रोशनी की समस्या है तो यहां उपाय जरूर आजमाएं। 11 ग्राम गिलोय का जूस और 1 ग्राम सेंधा नमक और 1 ग्राम शहद मिलाकर निकले यह सेवन आप अपनी आंखों पर भी लगा सकते हैं, आपको बहुत हद तक राहत देता है। आपकी बहुत बड़ी समस्या का हल है, बड़े-बड़े ट्रीटमेंट में खर्चा करने से अच्छा इसे आजमा कर देखें।

For more benefits of Giloy

Giloy ke fayde
Use of Giloy

गिलोय का सेवन कैसे करें

सबसे पहले गिलोय का प्लांट अगर आप चाहे तो घर पर लगा सकते हैं। गिलोय के डंठल को ऊपर से काट के 3 से 4 इंच का टुकड़ा ले ले। इस गिलोय के टुकड़े को अच्छे से धो ले। धोने के बाद उसे किसी भी पत्थर की खरड़ में पीस लें। अच्छे से पीसने के बाद उसे किसी भी पतीले में निकाल ले और साथ में एक से डेढ़ गिलास पानी मिला ले और उसके साथ आधी छुट्टी काली मिर्च ज़रूर मिलाएँ।

यह तीनों को मिलाकर के आप को धीमी आँच पर उसे अच्छे से उबाल लेना है। उबालने के बाद भी उसे धीमी आंच पर गर्म करते रहे ताकि जो एक से डेढ़ गिलास पानी आपने लिया था उसका आधा हो जाए। यह बनने के बाद उसे किसी भी बर्तन में छान करके निकाल ले, अगर आप चाहे तो उसमें शहद भी मिला सकते हैं और यह आपका गिलोय का काढ़ा तैयार हो गया है। आप इस काढे़ को दिन में एक बार ज़रूर पिए।

गिलोय के नुकसान

अगर आपको गिलोय के बारे में यह जानकारी जानने के बाद लगता है कि, गिलोय के सिर्फ फायदे ही फायदे हैं तो ऐसा नहीं है। हर चीज के फायदे होते हैं तो नुकसान भी होता है। अगर किसी भी चीज का सेवन जरूरत से ज्यादा हो तो उसके नुकसान भी सहने पढ़ सकते हैं। चलिए जानते हैं गिलोय के कुछ नुकसान और किन परिस्थितियों में गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए।

ऑटोइम्यूनिटी बीमारियों का खतरा

गिलोय के सेवन से शरीर की इम्युनिटी शक्ति बहुत बढ़ जाती है, जो हमें बीमारियों से लड़ने की शक्ति देती है। लेकिन, गिलोय के ज्यादा सेवन ऑटोइम्यूनिटी बीमारियों का खतरा बन जाते हैं और इसकी वजह से बीमारियां जैसे कि रूमेटाइड अर्थराइटिस और मल्टीपल स्क्लेरोसिस से  पीड़ित मरीजों को गिलोय से परहेज की सलाह दी जाती है।

निम्न रक्तचाप:

जिन लोगों को निम्न रक्तचाप की बीमारी है उन्हें, गिलोय का सेवन करने से परहेज करना चाहिए। क्योंकि, गिलोय भी ब्लड प्रेशर को कम करता है। इसलिए, इसके सेवन से मरीज की स्थिति बिगड़ भी सकती है।

गर्भावस्था:

गर्भावस्था और स्तनपान करने वाली महिलाओं को भी गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए। हालांकि, स्तनपान करने वाली महिलाओं में इसके लक्षण नहीं दिखते हैं लेकिन, बिना डॉक्टर की सलाह के गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए।

मधुमेह के मरीजों के लिए नुकसानदायक:

यदि आपको मधुमेह हैं तो, आप गिलोय का सेवन ना करे तो अच्छा है।  आपके खून में जो शुगर लेवल मौजूद होता हैं, गिलोय उसे कम करने का काम करते हैं। इसलिए, आपको शुगर है तो यह आपका शुगर लेवल बहुत कम कर देगी। इसलिए, आप गिलोय का सेवन ना करें तो अच्छा है।

सर्जरी से पहले गिलोय का सेवन ना करें:

सर्जरी के दौरान यह बहुत आवश्यक है की, ब्लड प्रेशर संतुलित रहे। लेकिन, गिलोय आपके ब्लड प्रेशर को प्रभावित करती है। तो आप सर्जरी से पहले गिलोय का सेवन नहीं करें तो बहुत अच्छा होगा।

Leave a comment